Everlasting Blessings of Mata Dadanbai & Dr. Premchand Manghirmalani

भगवंती नावाणी

advertise here

Advertise Here

बायोग्राफी – भगवंती नावाणी

फेमस सिंधी सिंगर - सिंधी लाढा - सुखमनी साहिब

bhagwantiघटि में घटि भारत भूमि ते इहो मुमकिन न थो लगे त का सिंधी शादी थिये अं भगवंती नावाणी जो नालो न खन्यो वञें छो जो सिंधियिन जी शादी जी हिक अहमियत वारी रसम थींदि आहे लाढा अं भगवंती नावाणी उहा फेमस सिंगर आहे जहिं लगभग सभ मशहूर सिंधी लाढा गाईया आहिन। ऐतरो ई सिंधी में सुखमनी साहिब गाये उनखे घर घर पहुंचाईण में बि भगवंती नावाणी जो वढो हथु आहे।

भगवंती नावाणी जो जन्म नसरपुर सिंध में ०१-०२-१९४० ते थियो हो मुल्क जे विरहांगे बाद जदिहिं भगवंती भारत में वढी थी त हुन सिंधी लोक संगीत खे घर घर पहुंचाईण वास्ते सिंधी भजन, दोहरा, सूफी कलाम, लोलियुं अं साखियूं गायिण शुरू कयूं।  असुल में नढे हूंदे खां ढाढीअ खे सिंधी भजन अं सिंधी लोक गीत गाईन्दे डिसन्दे वढी थियिल भगवंती खे बालपणे खां ई गीत संगीत लाय चाहु पैदा थी वियो हो।

भगवंती जी पहिरयीं रीतसर संगीत सिखिया देवघर म्यूजिक स्कूल अं निखिल घोष जे अरुण संगीत विद्यालय में मिली। अगते हली हुअ इंडियन पीपुल थिएटर एसोसिएशन सां जुडी जिते कानू घोष अं कानू रॉय जी रहबरी हेठ भगवंती जो संगीत वास्ते चाहु हुनर में बदिलजी वियो। भगवंती खे रविन्द्र संगीत जी वधीक जाण अं सिखिया चित्रा बरुआ अं हेमंत कुमार डिनी।

भगवंती जो आवाज़ ऐड़ो त मिठो, सुरीलो अं दिलकश हो जो हुन खे सिंधी कोयल चयो वेन्दो हो। सिंधी लाडा गायिण सबब हुअ ऐतिरो मशहूर थी वयी जो हर सिंधी घर में संदस नालो घर जे भातीअ जे नाले वांगुर महसूस थियण लगो।

भगवंती मुख़्तलिफ़ सामाजिक अं धार्मिक मोकन सां गडु सांस्कृतिक कार्यक्रमन में बि सिंधी गीत संगीत पेश करण लगी अं सिंगर तौर पहिंजे अटकल २५ सालन जे कॅरियर देश विदेश में ३००० खां बि वधीक प्रोग्राम पेश किया।

सिंधी फ़िल्मुन में प्ले बैक सिंगर तौर संदस कामियाबी बेमिसाल आहे। १९६३ खां पोय ठहियिल लगभग हर सिंधी फिल्म में भगवंती गाना गाया आहिन। कुछ सिंधी फिल्मुं जिन में भगवंती नावाणी जो आवाज़ शामिल आहे से आहिन झूलेलाल,लाड़ली, सिंधु जे किनारे, शल धिउर न जमन, होजमालो, कँवर राम, हलु त भजी हलूं, परदेसी प्रीतम वगैरह।  

भगवंती नावाणी जी मशहूरी बुलन्दियिन ते पहुती जदिहं हिन नितनेम जी गुरबाणी "सुखमनी साहिब " सिंधीअ में पेश कयी। लगभग ३०-३५ साल अगु भगवंती जी गायिल सुखमनी साहिब अजु बि घणन ई सिंधी घरन में सुबह जो हर रोज़ नियम सां हलायी वेन्दी आहे।

भगवंती नावाणीअ किन् सिंधी नाटकन, खास करे मशहूर डायरेक्टर अं लेखक गोविन्द माल्ही जे, में बि कमु कियो हो। इन्हन मां के आहिन
मेहमान
गुस्ताखी माफु
तुहिंजो सो मुहिंजो
देश जी ललकार

मशहूर सिंधी फिल्म "सिंधु जे किनारे " में भगवंती नावाणी हेरोइन तौर एक्टिंग कयी हुयी। पहिंजे कॅरियर जे दौरान भगवंती जो केतिरा ई भेरा सत्कार कियो वियो अं हुन खे अलग अलग अवार्ड्स सां नवाजियो वियो पर संदस वढो अवार्ड आहे जो अजु बि सिंधी शादी भगवंती जे लाडन बिना अधूरी महसूस थींदी आहे।

२२ अक्टूबर १९८६ ते सिंधी लोक संगीत जी हिन महान पुजारिण जो स्वर्गवास थियो।