Everlasting Blessings of Mata Dadanbai & Dr. Premchand Manghirmalani

एच के चैनानी

advertise here

Advertise Here

बायोग्राफी – जस्टिस एच के चैनानी

हशमतराय खूबचंद चैनानी - फेमस सिंधी - चीफ जस्टिस - बॉम्बे हाय कोर्ट 

h_k_chainani229 फरवरी साल  उहो डींहुं आहे जो साल जे डीन्हन जो तादाद हिकु वधाये थो। 29 फरवरी 1904 ते हैदराबाद सिंध में जन्म वठण वारे हशमतराय खूबचंद चैनानी में सिंधी कौम जो विरसे वारो इंसाफ वास्ते प्यार ऐं हिमथ सां इंसाफ लाय ज़फ़ाकशी करण जी खूबी सां गडु दया जी भावना सां भरियल इंसाफ ऐं सामाजिक भले जे पहिंजे जुनून वास्ते त्याग करण जा गुण बि हुआ।  हैदराबाद में शुरुआती स्कूली सिखिया हासिल करे हुन वधीक तैलीम वास्ते कराची जे मशहूर डी जे सिंध कॉलेज में दाखिला वरती। हशमतराय पहिंजी बी ऐ जी डिग्री [Natural Science Tripos विषय ] कैंब्रिज इंग्लैंड जे मैगडोलेने मां हासिल कयी। 

1925 में ग्रेजुएशन जी पढ़ायी पूरी करे हशमतराय, 1926 में इंडियन सिविल सर्विसेज [ICS] जो इम्तिहान डिनो ऐं वडी कामियाबी - पहिरियों नंबर अची - हासिल कयी।  1927 में भारत मोटण ते श्री एच के चैनानी खे रेवेन्यू खाते में शोलापुर जे असिस्टेंट कलेक्टर जे ओहदे ते बहाल कियो वियो। सागे ओहदे ते रहन्दे हुन नासिक ऐं पूना में बि कमु कियो। सुठो मानवारो ओहदो ऐं पघार बि संदस इंसाफ वास्ते ज़ज़्बे जी प्यास पूरी करण में नाकामियाब थिये पयी।  1933 में खेस शोलापुर जे डिस्ट्रिक्ट ऐं सेशन जज जे ओहदे ते प्रमोशन मिलियो।हशमतराय चैनानी खे बॉम्बे लेजिस्लेटिव कौंसिल जे सेक्रेटरी ऐं असिस्टेंट लीगल रेमेमब्रान्सर जे ओहदे ते कमु करण जो बि वझु मिलियो। 

1944 में बतोर होम डिपार्टमेंट जे जॉइंट सेक्रेटरी हशमतराय गवर्नमेंट ऑफ़ बॉम्बे जो हिसो बणियो पर जल्द ई खेस भारत सरकार जे होम डिपार्टमेंट जे डेपुटी सेक्रेटरी जे ओहदे ते मुकर्रिर कियो वियो। 1948 में जहिं वक़त हू रेवेन्यू खाते में कमिशनर हो उन वक़त खेस प्रमोट करे बॉम्बे हाय कोर्ट में घटि अख्तियारी वारे जज जे ओहदे ते मुकर्रिर कियो वियो।  इहो संदस काबिलियत, कम करण जे ज़ज़्बे ऐं इंसाफ पसंदी जो सबूत आहे जो जडिहिं 1958 में हाय कोर्ट जो चीफ जस्टिस एम सी चागला रिटायर थियो त हशमतराय चैनानी खे नवों चीफ जस्टिस मुकर्रिर कियो वियो।  हुन इन ओहदे ते डहाको साल,1965 में श्री वाय एस ताम्बे जे मुकर्रिर थियण तायी,  कमु कियो।  इन ओहदे ते रहन्दे संदस फैसला बिना भव ऐं तरफदारी जे फैसलन जे रूप में ऐं हू पाण इंसाफ वास्ते जुनून ऐं फैसलो करण वक़त इंसाफ सां गडु दया खे बि अहमियत डियण वारे जज में मशहूर थियो।

जडिहिं बि आमु शहरिन जे हकन जी गालिह आयी हिन कडिहिं बि सरकार जी पुठभरायी कोन कयी पर सागे वक़त सरकार हलायिण जे मसलन ऐं डुखियायी जो अहसास कन्दे हुन सरकार जे फैसलन ते को अणवणन्दड हुक्म डियण खां बि पासो कियो। 

1962 में हशमतराय चैनानी खे महाराष्ट्र राज्य जे एक्टिंग गवर्नर तोर कमु करण जो मोको मिलियो।  इन दौरान वेस्टर्न इंडिया एडवोकेट एसोसिएशन जो सउ साल पूरा थियण जो जलसो थियो।  इन प्रोग्राम जे मुख्य मेहमान तोर संदस भाषण न सिर्फ बार कौंसिल डांहुं संदस प्यार ऐं इज़्ज़त जे ज़ज़्बे जो इजिहार हो पर गडोगडू इंसाफ ऐं दया जे लागापे जो बि बियान हो।  

28 नवंबर 1965 ते हिक रोड हादसे सबब इंसाफ जे पुजारी हशमतराय खूबचंद चैनानी खे हिन फ़ानी दुनिया मां चालणो करणो पियो। 

ISMHRMSN