Everlasting Blessings of Mata Dadanbai & Dr. Premchand Manghirmalani

सिंधी पहाका / चवणियूँ

advertise here

Advertise Here

मेहरबानी करे ध्यान डीन्दा त हिनन मां कुछ बि मुहिंजो लिखियिल कोन आहे। मां सिर्फ कोशिश थो कियाँ त जेके सिंधी पहाका / चवणियूँ असां पहिंजे रोज़ाने जीवन में काम आणियूँ था से सभ हिक हंद ते कठा थियन जीयँ नवजवान सिंधी पीढ़ीअ खे सिंधी बोलीअ जे हिनन जेवरातन सां रूह रूहाण जो मोको मिले। हिते पहाकन चवणिन जा मतलब डिनिल आहिन से ज़रूर मुहिंजी समझ ऐं आजमूदे आधारे आहिन।
एस. पी. सर

Sindhi Proverbs – पहाका , चवणियुं , मुहावरा ऐं कहावतूं

कुकुड कोरियिन जी नावं वडेरे जो
कमु कन हिकिडा जसु मिले बिये खे।

डुबरे डान्द खे मछर बि घणा
कमज़ोर खे तक़लीफियूं बि वधीक थियन 

वंड विरहाय सुख पाय
सचो सुख कठे करण में न पर विराहिण में आहे।

सबुर जिनजो सीर तीर न गुसे तिन जो 
जे सबुर रखन्दा त कामयाबी ज़रूर मिलन्दी। 

उठ जे  मुहं में ज़ीरो 
घुरिज जी भेट में तमाम घटि मिलण।

जेड़ा उठ तेडा लोड़ा  
जेतिरी वधीक जवाबदारी ओतिरो वधीक कमु।

जेको चुल्ह ते सो दिल ते  
जेको पियो गडिजे सो पहिंजो महसूस थींदो आहे।

नींगर बि नंढी जुम्मा बि घणा 
मौका पिया मिलन्दा आहिन।

नींगर जा पैर पींघे में पधरा 
काबलियित न लिकन्दी आहे।

फुडिअ फुडिअ तलाव  
नंढी बचत बि वडी मददगार थी सघे थी। 

नयीं नूहं नवं डींह लथे पथे डह डींह
कूड़ वधीक अरसे तायीं लिकाये न थो सघिजे।  

सचु टी वेठो नचु 
सचाई हमेशा ख़ुशी डिये थी। 

जीउ खुश त ज़हान खुश 
जे तव्हां खुश आहियो त दुनिया बि खुश आहे।

खीसे में नाणो त घुम लाडकाणो  
जे पैसा हुँदा त शौंक पूरा थी सघन्दा।

नांग जे पुछ ते पेर रखण  
बिना मतलब पाण खे खतरे में विझण।

कहिं खे वाँगण वाई त कहिं खे बसर बादी  
हर कहिंजी पहिंजी पसंद आहे।

खीर खंडु थियण   
हिक बिये खे समझी गहिरो नातो कायम करण। 

हिक चुप सौ सुख 
झगडे वक़त चुप रहण सां सवें सुख मिलन था। 

नूहं घर जी सूंह 
नूहं जे अचण सां घर जी रौनक वधी वेंदी आहे।

सेण अखियन जा नेण 
सेणन  जी  अहमियत अखियन खां घटि न आहे।

वक़त जो फेरो दाल मां सीरो 
सुठे वक़त में थोड़ी कोशिश बि कमु रास करे थी। 

अन्धन बि मुलतान लधो 
कोशिश कमज़ोर खे बि कमियाब बणाये थी। 

घरु गुरुअ जो दरू 
पहिंजे घर जी अहमियत गुरु जे दर जेतिरी आहे। 

जेतिरे सवड तेतिरा पेर 
पहिंजी सलाहियतुन मूजिब कमु करण घुरिजे। 

आहे त ईद न त रोज़ो 
वक़त ऐं हालतुन मूजिब हलण  

अंधी पींहे कुत्ता खायिन
मेहनत जो फलु जेके लायक न हुजन उन्हन में विरहायिण। 

हिक तन्दुरुस्ती हज़ार नियामतूं 
हज़ारे वरदानन ऐं तन्दुरुस्ती जो मुलह हिक जेतिरो आहे ।

जिते लोभी हुजन उते ठोगी भुख न मरन
मतलब जे असां लालच न कयुं त असां ठगी जो शिकार न थींदासीं।

खाओ मणु बचायो न कणु
कमु केतिरो बि आणियो पर कुछ बि अजायो न विञायो।

जहिडो संग तहिडो रंग 
तव्हां जी जिन सां दोस्ती आहे तव्हां उन्हन जहिडा थी वेन्दा।

धकु हण धीउ खे त सिखे पयी नूहं 
हिक खे छिबड या ढडको [सजा] डयी बिये खे सेखारिण।

दायीअ खां पेटु लिकायिण 
जहिं खे हकीकत खबर हुजे उन सां कूड़ गालिहाइण।

घणे जायफें घरु न हले घणे मर्दें हरू न हले 
जे हिक ई कमु खे वधीक माणुहू कन्दा त कमु सही नमूने कोन थींदो।

उहो सोन घोरियो जो कन छिने 
उन कीमती शय जो बि मुलह कोन आहे जहिं मां  नुकसान पहुचे।

पैसे पलो मंहागो रूपये पलो सस्तो 
शय जी कीमत वक़्त ऐं हालतुन मूजिब मुकर्रर थींदी आहे।

बारी खणन बारू नाहे कमु कचन जो 
जहिं में काबिलियत ऐं आजमूदो हुजे तहिं खे ई जवाबदारी खणणु खपे।

लभे लठ बि कोन बाबो बन्दुकुन वारो  
कुछ न हूंदे बि घणो कुछ हुअण जो डेखाउ करण।

अच्छा कपडा खीसा खाली समझन पाण खे मुल्क जा वाली 
कुछ न हूंदे बि अहिडी हलत हलण जण त कहिं मुल्क जा हुक्मरान हुजन।

नाणे बिना नर वेगाणो 
जे पैसा न हुजन त इन्सान पाण खे अकेलो या उबाणको महसूस कन्दो आहे।

अचे धीयाणो वञें पियाणो 
पुराणों पहाको जहिं मूजिब पेकन खे धीउ जो धन न वापिरायिण घुरिजे।

जो खीर पिये सो वीर थिये 
हीअ चवणी खाधे जी अहमियत समझायिण वास्ते कमु अचे थी।

जेतिरो कायदो ओतिरो फायदो 
जेतिरो नियमन सां हलबो ओतिरो ई फायदो मिलन्दो। 

सच ते साहिब राज़ी 
सचायी ते हलण वारा भगवान जी मेहर हासिल कन था। 

मूर खां वियाज़ मिठो  
पहिजन बारन खां बारन जा बार वधीक अज़ीज़ महसूस थींदा आहिन।  

नियत बदि रोटी रदि 
ख़राब इरादे सां कियिल कमु जो फलु ख़राब मिलन्दो आहे। 

ख़ुशीअ जहिड़ी खोराक कोन्हे गणितीअ जहिड़ो मरज़ु 
ख़ुशी माणुहुअ खे तंदरूस्त रखे त चिंता बीमार बणाये थी।      

बंदे जी मन में हिक साहिब जे मन में बी 
इंसान जेको सोचे थो सो न पर जेको परमात्मा खे वणे सो थिये थो। 

हिकु त वणे कोन बियो चये हन्ज खणु 
अणवणन्दड माणुहअ जी संगत में वकतु डुखियायिअ सां गुजरंदो आहे।       

जहिं जे घर मेँ दाणा तहिंजा चरिया बि सियाणा 
पैसे वारे बेअकुल खे  सियाणन जहिड़ो मानु मिले थो।   

चोर जी माउ कुंड में रूइये 
गलत कमु करण वारे लाय पहिंजे डुख जो इजिहार करण बि डुखियो।