Everlasting Blessings of Mata Dadanbai & Dr. Premchand Manghirmalani

द सिंधु वर्ल्ड – सिंधी देवनागिरीअ में

advertise here

Advertise Here

द सिंधु वर्ल्ड – सिंधी देवनागिरीअ में

2006 खां हर महीने अपडेट थीँदड अकेली सिंधी वेबसाइट खे जनवरी 2016 खां हिक नओं रूप डिनो वियो जहिं में भारत जे सिंधयिन खे अहमयित डीन्दे भारत जे हर उन शहर वास्ते जिते सिंधी आदमशुमारी हिकु हज़ार या वधीक हुजे हिकु अलग वेब पेज ठाहे उते उन शहर जे सिंधी समाज सां लागापे वारियिन - शहर जी सिंधी आदमशुमारी , फेमस सिंधी , सिंधी शान [हर हिक शहर वास्ते अलग पेज ], सिंधी डॉक्टर्स , C.A. ऐं वकीलन जी लिस्ट, सिंधी पंचायत ऐं बियूं संस्थाऊँ , सिंधी धर्मशाला वगैरह गालियिन जी जाण डियण जी शुरुआत कयी वयी।

अलग अलग शहरन में सिंधी समाज जे उत्सवन जी जाण डियण वास्ते हिक नओं सेक्शन ब्लौग शुरू कियो वियो। शहरन सां लागापो रखन्दड जाण कठी करे वेबसाइट ते शाया करण वास्ते अलग अलग शहरन जा दौरा शुरू थिया ऐं इन्हन द सिंधु वर्ल्ड - सिंधी देवनागिरीअ में बि पेश करण जो बीजु पोखियो। हर शहर में खास करे चालीहन सालन खां वडी उमर वारन जो ऐं किन थोरन सिंधी नवजवान जो चवण हो त द सिंधु वर्ल्ड अंग्रेजी में हुअण सबब खेन तकलीफ थिये थी।

सिंधी देवनागिरीअ में मौजूद कंप्यूटर फ़ॉन्ट्स जे पूरे तरह सां सिंधी बोलीअ जी पुठ भरायी न करण जी लाचारी ध्यान में रखन्दा ऐं टाइपिंग जी गल्तियिन खे नज़रअंदाज़ कन्दा। 

द सिंधु वर्ल्ड – कहिडी कहिडी जाण मिलन्दी

नतीजे तौर जनवरी - मार्च महीनन में 23 शहरन जी कठी कियिल जाण शाया करण खां पोय इहो दौरन जो कार्यक्रम कुछ वक़त वास्ते रोके द सिंधु वर्ल्ड खे सिंधी देवनागिरी लिपी में तैयार करण जो कमु शुरू कियो वियो ऐं सिर्फ टिन महीनन जे थोरे अरसे में अजु द सिंधु वर्ल्ड सिंधी देवनागिरीअ में पेश कन्दे खुशी ऐं फखुर महसूस थिये थो छो जो असां जी जाण मोजिब द सिंधु वर्ल्ड पहिरियीं ऐं अकेली सिंधी वेबसाइट आहे जेका अंग्रेजी तोड़े सिंधी बिन्ही भाषाउन में आहे। हिन वक़्त द सिंधु वर्ल्ड ते 900 खां बि वधीक वेब पेज आहिन जिन वसीले

अटकल 150 सिंधी शख्सियतुन जी बॉयोग्राफी
अटकल 150 शहरन [भारत जे] जे सिंधियिन जी मुकमल जाण
सिंधियिन जे सभनी धार्मिक विशवासन बाबत
प्रेम प्रकाश पंथ ऐं संत निंरकारी मिशन जे गुरुन जूं जीवनियूं
50 खां वधीक विडिओ
सिंधी डिणन
निजु सिंधी रेसीपीज
सिंधी साहित्य ऐं सिंधी इतिहास
सत मशहूर सिंधी लोक कहाणियूं
साहित्य अकादमी अवार्ड ऐं पदम अवार्ड हासिल कियिल सिंधियिन बाबत जाण

तव्हां तायीं पहुचाईण जी कोशिश कयी वयी आहे। उम्मीद त तव्हां खे असां जी हीउ कोशिश पसंद अीन्दी ऐं हमेशा वांगुर असां जी होसिला अफ़ज़ाई कन्दा।

एस. पी. सर
01-07-2016