Everlasting Blessings of Mata Dadanbai & Dr. Premchand Manghirmalani

द सिंधु वर्ल्ड जी कहाणी

वेबसाइट जे बारे में

सिंधु वर्ल्ड बिलाशक लासानी सिंधी वेबसाइट घणे भांगे सिंधी संतन , सिंधी कवी लेखकन , साहित्यकारन , सियासतदानन , धर्म गुरुन अं आध्यात्मिक महापुरुषन जी जीवनन लाय [१०० खां बि वधीक जीवनीयुं ] वढे में वढो ऑनलाइन वसीलो आहे। हिन बायोग्राफी ज़ख़ीरे में सिंधी सपूत हेमू कालाणी आहे त सिंधी संस्कृतिअ जो सिपहसालार संत कँवर राम बि आ। जे नवजवान स्पोर्ट्स पर्सन पंकज आडवाणी आ त गांधीधाम जी स्थापना में मील जे पत्थर जो रोल निभाईन्दड भाई प्रताप जी जीवनी पिण डिनल आहे। वेबसाइट ते तव्हां सिंधियन जे मुख्तलिफ धार्मिक विश्वासन बाबत जाण सां गडु किन पंथन जे गुरुन जूं जीविनियुं पिण मिलन्दव। धन सिरी गुरु ग्रंथ साहिब अं श्री गणेश जी जाण बि वेबसाइट जो हिसो आहे। तीर्थ यात्रा जे शौक़ीनन लाय महाराष्ट्र जी चार धाम यात्रा मतलब अष्टविनायक दर्शन बाबत रोड मैप सूधी इन्फो डिनिल आहे।

सिंधी कौम जे आराध्य देवता झूलेलाल साहिब समूरी जाण डियण जी कोशिश कयी वयी आहे। सिंधी पल्ल्व , चालीहो , बिया सिंधी डिण, सिंधी खाधो , सिंधी बोली , सिंधी साहित्य अं सिंधी इतिहास इहे सभु सिंधयत में शामिल आहिन।

सिंधी आराध्य देवता झूलेलाल जी समूरी कहाणी : जन्म खां अगु जो इतिहास , अलग अलग नाला, हिन्दु सिंधियन जो उद्धार , सिंधी पलव , चालीहो, सिंधी डिण , रवायती या निज सिंधी खाधो , सिंधी रेसीपीज , सिंधी लोक कहाणियूं जेके शाह जे रिसाले में बि शामिल आहिन अं सिंध जे सत ट्रैजिक रोमान्स नाले सां मशहूर आहिन इहे अं बियो घणो कुछ सिन्धियत सेक्शन जो हिसो आहिन।

५० खां बि वधीक सिंधी वीडियो अं गुरबाणी वीडियो जो हूअण वेबसाइट खे वधीक करायती बणाये थो। नितनेम गुरबाणी वीडियो सां गडु देवनागिरी लिपि में डिनिल आहे मतलब तव्हां बुधण सां गडु पढ़ही बि सघो था।

अटकल डहाको सालन [२००६-२०१५ ] खां पोय असां वेबसाइट खे वधिक असरायती अं वधीक जाण डियन्दड बणायिण जे मकसद सां नयें रूप में पेश कयूं था। हाणे तव्हां खे सिटी वाइज सिंधी आदमशुमारीअ जी जाण मिलण सां गडोगडु हर शहर जे नामवर सिंधियन अं पंचायत खां सिवाय बियन सिंधी संस्थायुन जी बि जाण मिलिन्दी।  अगते हेल असां देश जे मुख्य मुख्य सिंधी स्कूलन कॉलेजन अं  अस्पतालुन जी लिस्ट बि शामिल कंदासीं।  द सिंधु वर्ल्ड डायरेक्टरी हाणे एंड्राइड अप जी सूरत में हूंदी पर तव्हां पहिंजा डिटेल्स शामिल करण लाय वेबसाइट ते बि "डायरेक्टरी फॉर्म " भरे सघो था। 

अटकल डहाको सालन [२००६-२०१५ ] खां पोय असां वेबसाइट खे वधिक असरायती अं वधीक जाण डियन्दड बणायिण जे मकसद सां नयें रूप में पेश कयूं था। हाणे तव्हां खे सिटी वाइज सिंधी आदमशुमारीअ जी जाण मिलण सां गडोगडु हर शहर जे नामवर सिंधियन अं पंचायत खां सिवाय बियन सिंधी संस्थायुन जी बि जाण मिलिन्दी। अगते हेल असां देश जे मुख्य मुख्य सिंधी स्कूलन कॉलेजन अं अस्पतालुन जी लिस्ट बि शामिल कंदासीं। द सिंधु वर्ल्ड डायरेक्टरी हाणे एंड्राइड अप जी सूरत में हूंदी पर तव्हां पहिंजा डिटेल्स शामिल करण लाय वेबसाइट ते बि "डायरेक्टरी फॉर्म " भरे सघो था।

द सिंधु वर्ल्ड डॉट कॉम जी हिक लासानी खूबी आहे "सिंधी टिपणो " इहा होम पेज ते डिनिल हिक इमेज न पर सजे साल जो टिपणो आहे। क्लिक करण सां इमेज वढी थिये थी अं चंड, उमास , सतनारायण [पूर्णिमा] अं गणेश चौथ [संकष्टी] जहिड़ियन डीन्हन जी माहवार इन्फो अं साल जे मुख्य सिंधी डिणन जी तारीख बाबत खबर पवे थी।

हाणे बि वेबसाइट डिसन्दडन खे जन्म डींह जी वधायिन जो सिलसिलो कायम रहंदो। नयें जोडियिल पेजन बाबत होम पेज ते जाण डिनी वेंदी अं वेबसाइट बाबत तव्हांजा राय माहवार आधार ते अपडेट थींदा।

सिंधी देवनागिरीअ में मौजूद कंप्यूटर फ़ॉन्ट्स जे पूरे तरह सां सिंधी बोलीअ जी पुठ भरायी न करण जी लाचारी ध्यान में रखन्दा ऐं टाइपिंग जी गल्तियिन खे नज़रअंदाज़ कन्दा। 

शुरुआत कीयं थी

२००६ धारे मुखे ब्लॉग लिखंदे थोरो ई अरसो थियो हो त मुखे अहसास थियो त सिंधी कौम बाबत ऑनलाइन इनफार्मेशन जो आभाव आहे।  तमाम थोरियुं दुबई अं पाकिस्तान जूं सिंधी वेबसाइट आहिन पर उहे बि नियम  अपडेट नथियुं थियन बस इहो ई बिजु हो जहिं जन्म डिनो द सिंधु वर्ल्ड डॉट कॉम खे।  सिंधी वेबसाइट जी रचना करण को सवलो कमु कोन हो ३-४ महीना त सिर्फ इहो फैसिलो करण में निकरी विया त वेबसाइट ते छा हुजे अं छा न हुजे।  लगभग ऐतिरो ई वक़्त वेबसाइट जी डिजाइन अं मटेरियल तैयार करण में लगियो।  आखिर २९ अगस्त २००६ ते स्वामी देव प्रकाश महराजन जे शुभ हथन सां द सिंधु वर्ल्ड डॉट कॉम कोल्हापुर में लांच थी।  अजु जडहिं असां वेबसाइट खे नयें रूप में पेश करण जी तैयारी पिया क्यूँ त समझ में आयो त वेबसाइट जो विस्तार २५० वेब पेजन खां बि वधीक आहे।

२००७ में भारत जी सिंधी धर्म शालाउन जी लिस्ट - रहण जी सहूलियत वारियिन खे निशानी डीन्दे शामिल करण खां सिवाय द सिंधु वर्ल्ड डायरेक्टरी बि शुरू कयी वयी जेका २००९ में बदलजी आल इंडिया सिंधी बिजनेस डायरेक्टरी बणी। हाणे थोरे ई अरसे में इहा भारत जे सिंधियन जी जाण डीन्दड डायरेक्टरी द सिंधु वर्ल्ड - वर्ल्ड डायरेक्टरी जे रूप में मोबाइल अप जे रूप में लांच थी रही आहे। विच में फ्री सिंधी मेट्रिमोनियल सेक्शन बि शुरू कियो वियो हो पर घटि रिस्पॉन्स सबब बंद करणो पियो।

उम्मीद त जल्द ही हिक नयीं सेवा "सुःख दुःख " अप जे रूप में शुरू कबी। उम्मीद न पर विश्वास आहे त अगते बि तव्हांजो सहकर मिलन्दो रहन्दो।
सतनाम वाहेगुरु

एस. पी. सर
०१-०५-२०१६